Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • मांगें पूरी नहीं हुई तो होगा संघर्ष की आवाज़ ?
Latest बिहार सुपौल

मांगें पूरी नहीं हुई तो होगा संघर्ष की आवाज़ ?

सुपौल। मध्य विद्यालय राघोपुर में रसोइयों की बैठक जिलाध्यक्ष शिव शंकर दास की अध्यक्षता में रविवार को आयोजित की गई। मौके पर मुख्य अतिथि सह रसोइया संघ के संरक्षक व अंचल सचिव सिकेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि सरकार रसोइयों के साथ बंधुआ मजदूरों की तरह व्यवहार कर रही है। दिन भर चूल्हे के पास खून जलाने वाले रसोइया को लगभग 27 प्रतिदिन के हिसाब से साल में 10 माह के लिए 1250 रुपये से प्रतिमाह मानदेय दिया जाता है जो सरासर मानवाधिकार का उल्लंघन है। वहीं जिलाध्यक्ष शिव शंकर दास ने कहा कि प्रतिमाह रसोइयों को 18000 रुपए मिलना चाहिए। रसोइयों को घायल होने की अवस्था में 1 लाख तथा मृत्यु होने पर 5 लाख की राशि प्रदान किए जाने, अर्जित अवकाश,आकस्मिक अवकाश, मेडिकल अवकाश आदि मिलना चाहिए। केंद्रीय रसोइया घर तथा निजी ठेकेदारों कंपनियों गैर सरकारी संगठनों को योजना के संचालन पर तुरंत रोक लगे सभी मिड डे मील योजना के लिए पर्याप्त बजट का आवंटन किया जाए। यदि सरकार के द्वारा इन मांगों को नहीं माना गया तो संघ आर-पार की लड़ाई लड़ेगी। मौके पर शीला देवी, आशा देवी, कमली देवी, नीलम देवी, शर्मिला देवी, कला देवी, लालू देवी, दुखन यादव आदि मौजूद थे।

Related posts

NRC , CAA दलित पिछड़ा विरोधी काननू देश के हित मे नही है : जिशु सिंह

Mukesh

अपने ही 10 वर्षीय बच्चे को किया हत्या

Binay Kumar

विंग्स कोचिंग के बाहर धरने पर बैठे जन अधिकार छात्र परिषद के छात्र नेता

Binay Kumar

Leave a Comment