Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
नालंदा बिहार

महागठबंधन पर उठे सवाल

नामांकन प्रक्रिया के बाद जहां एक और एनडीए के दिग्गज नेता नालंदा जिले में कैंप कर अपने उम्मीदवार के पक्ष में लोगों के घर-घर जाकर जीत के दावे को सुनिश्चित कर रहे हैं। वहीं इसका उल्टा ही असर महागठबंधन पर दिखाई दे रहा है। नामांकन के बाद महागठबंधन में सिर्फ चोर और हत्यारो का ही जमावड़ा दिख रहा है। यह बात की पुष्टि हम नहीं बल्कि महागठबंधन में शामिल लोजद ही कर रही है। गौरतलब है कि नामांकन प्रक्रिया के बाद महागठबंधन में शामिल कांग्रेस की गाठ ढीली पड़ रही है।

इसके पीछे कारण क्या है इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन लोजद अभी से ही हार का ठीकरा महागठबंधन में शामिल राजद के कुछ दागदार नेताओं के ऊपर फोड़ दिया है। अगर प्रत्याशी के इर्द-गिर्द नजर घुमाई जाए तो इस बात का खुलासा हो जाता है कि आजकल हम प्रत्याशी अशोक कुमार आजाद के साथ किस तरह के लोग आगे पीछे घूमते नजर आ रहे हैं।

यही कारण है कि कांग्रेस अब तक महागठबंधन में खुलकर साथ देने में आनाकानी कर रही है। हालांकि इस संबंध में जब महागठबंधन के उम्मीदवार अशोक कुमार आजाद से पूछा गया तो उन्होंने इस गोल मटोल जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस शुरू से ही हमारे साथ है और आगे भी साथ देने का काम करेगी लेकिन लोजद के मीडिया प्रवक्ता रवि अजगर ने तो अभी से ही हार का ठीकरा कुछ पार्टी में शामिल असामाजिक तत्व के लोगों के ऊपर फोड़ना भी शुरू कर दिया है।

उन्होंने कहा कि अगर इसी तरह के लोग प्रत्याशी के साथ आस पास घूमते नजर आए तो हम प्रत्याशी की हार नालंदा जिले में सुनिश्चित है क्योंकि नलनन्द जिला बुद्ध और ज्ञान की भूमि है और यह हमेशा लोगों को ज्ञान देने के काम किया है।

बिनय कुमार रिपोर्ट

Related posts

पुष्पम प्रिया चौधरी ने पटना के इंदिरा गांधी प्लेनेटेरियम का नाम “एसएसआर प्लेनेटेरियम” करने के लिये मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

Mukesh

वेतन नही मिलने से स्वास्थकर्मीयो ने किया हड़ताल

Binay Kumar

पतरघट: मोटी रकम दो सेविका का चयन पत्र लो के आधार पर चयन करती है पर्यवेक्षिका

Mukesh

Leave a Comment