Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • मुस्लिमों का पवित्र माह रमजान 7 मई से 4 जून को होगा ईद
Latest बिहार राज्य राष्ट्रीय वैशाली होम

मुस्लिमों का पवित्र माह रमजान 7 मई से 4 जून को होगा ईद

बिहार की आवाज़:हाजीपुर: प्रभात रंजन: रमजान या रमदान इस्लामी कैलेंडर का नवां महीना है जिसकी शुरुआत 7 मई से हो चुकी है। मुस्लिम समुदाय के लोग इस महीने को परम पवित्र मानते हैं तथा पूरे माह रोजा रखते हैं। रमजान के महीने में रोजेदारों की दिनचर्या पूर्णरूप से बदल जाती है। दिन भर रोजा रखने के पश्चात शाम में इफ्तार और रात में तराबी तथा तराबी की नमाज अता करते हैं। रात के आखिरी समय सेहरी करके रोजा की शुरुआत करते हैं। इस महीने में मुस्लिम भाई कुरान का अध्ययन करना पसंद करते हैं। पवित्र महीना रमजान में रोजेदार दिन भर भूखे प्यासे रहकर साफ दिल से खुदा की इबादत करते हैं। सुबह में सेहरी खा कर दुआ की जाती है और रोजा शुरू किया जाता है। शाम में इफ्तार के समय रोजा खोला जाता है।इफ्तार और सेहरी का समय जगह के अनुसार हर रोज बदलता है। पटना में सेहरी और इफ्तार का समय इस प्रकार है:-

7 मई- 3:45 सुबह सेहरी, 6:22 इफ्तार
8 मई- 3:44 सुबह सेहरी, 6:22 इफ्तार
9 मई- 3:43 सुबह सेहरी, 6:23 इफ्तार
10मई- 3:43 सुबह सेहरी, 6:23 इफ्तार
11मई- 3:42 सुबह सेहरी, 6:24 इफ्तार
12मई-3:41 सुबह सेहरी, 6:24 इफ्तार
13मई- 3:40 सुबह सेहरी, 6:25 इफ्तार
14मई- 3:40 सुबह सेहरी, 6:25 इफ्तार
15मई- 3:39 सुबह सेहरी, 6:26 इफ्तार
16मई- 3:38 सुबह सेहरी, 6:26 इफ्तार
17मई- 3:38 सुबह सेहरी, 6:27 इफ्तार
18मई- 3:37 सुबह सेहरी, 6:27 इफ्तार
19मई- 3:36 सुबह सेहरी, 6:28 इफ्तार
20मई- 3:36 सुबह सेहरी, 6:28 इफ्तार
21मई- 3:35 सुबह सेहरी, 6:29 इफ्तार
22मई- 3:34 सुबह सेहरी, 6:29 इफ्तार
23मई- 3:34 सुबह सेहरी, 6:30 इफ्तार
24मई- 3:33 सुबह सेहरी, 6:30 इफ्तार
25मई- 3:33 सुबह सेहरी, 6:31 इफ्तार
26मई- 3:32 सुबह सेहरी, 6:31 इफ्तार
27मई- 3:32 सुबह सेहरी, 6:32 इफ्तार
28मई- 3:32 सुबह सेहरी, 6:32 इफ्तार
29मई- 3:31 सुबह सेहरी, 6:33 इफ्तार
30मई- 3:31 सुबह सेहरी, 6:33 इफ्तार
31मई- 3:30 सुबह सेहरी, 6:34 इफ्तार
1जून- 3:30 सुबह सेहरी, 6:34 इफ्तार
2जून- 3:30 सुबह सेहरी, 6:35 इफ्तार
3जून- 3:30 सुबह सेहरी, 6:35 इफ्तार
4जून- 3:29 सुबह सेहरी, 6:36 इफ्तार

रमजान के पाक महीने में पूरा होने होने के बाद दुनिया भर में ईद का त्यौहार मनाया जाता है। इस्लाम धर्म में रमजान को बरकतों से भरपूर महीना बताया गया है। रमजान में मुस्लिम लोग रोजा रखने के साथ-साथ पांचों वक्त की नवाज पवित्र ग्रंथ कुरान की तिलावत करते हैं।

रिपोर्ट-प्रभात रंजन, हाजीपुर।

Related posts

पीएम मोदी के ब्यान को राबड़ी ने की सराहना;बोलीं-नीतीश नहीं मानते गलती

Binay Kumar

मधेपुरा: जाप कार्यकर्ताओ ने भेजा बाढ़ पीड़ितों के राहत कोष में एक लाख की राशि

Mukesh

पटना : बिहार मे सरकार की विफलता के कारण पांच दिनों मे कोरोना मरीजों की संख्या ढ़ाई गुणा हुई:ललन

Mukesh

Leave a Comment