Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • बिहार
  • गिरिराज पर लगा नफरत फैलाने का आरोप; एजाज अहमद
पटना बिहार लाइफ-स्टाइल

गिरिराज पर लगा नफरत फैलाने का आरोप; एजाज अहमद

जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज़ अहमद ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा दिए गए वक्तव्य के विरुद्ध जाकर सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के नारे को कहीं ना कहीं नफरत की दीवारों से समाप्त करने का प्रयास किया है। लेकिन उनका यह प्रयास देश की गंगा जमुनी तहजीब पर विश्वास करने वाली आम आवाम कभी बहकावे मे नही आनेवाली है। चाहे जितना भी छल प्रपंच के सहारे भाजपा सत्ता में आ जाए वह देश के लोगों का विश्वास नफरत के सहारे नहीं प्राप्त कर सकती है । गिरिराज सिंह जिस रमजान इफ्तार के बहाने धार्मिक आधार पर राजनीति करना चाह रहे हैं वह सफल नहीं हो सकता है।

गिरिराज सिंह अपने गठबंधन के नेता खीज उतारने के लिए जिस प्रकार से धर्म को आगे रखकर के राजनीति की है। यह किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं है। जब प्रधानमंत्री सब का विश्वास जीतने की बात कर रहे हैं तो गिरिराज सिंह जैसे लोगों को ईद में मुबारकबाद देने के लिए लोगों के बीच जाना ही होगा और हमारे जैसे लोगों को दीपावली में मुबारकबाद देने के लिए गिरिराज सिंह जैसे लोगों के पास जाना ही होगा तभी एक दूसरे का हम विश्वास जीत सकते हैं।

 

एक दूसरे पर कटाक्ष करके ना तो विश्वास जीत सकते हैं और ना ही देश का विकास कर सकते हैं अगर देश में वैसे शक्तियों को परास्त करना है जो नफरत की राजनीति को दोनों तरफ से बढ़ावा दे रहे हैं। तो उनको रमजान के ईफतार की अहमियत को भी समझना होगा और नवरात्र की अहमियत को भी समझना होगा तभी देश मजबूत हो सकता है। गिरीराज सिंह अगर किसी कुंठा में राजनीतिक विरोध में ऐसे भाव को प्रकट करते हैं तो वह समाज के मुख्यधारा से कट जाएंगे और समाज ऐसे लोगों को कभी स्वीकार नहीं करेगा। एजाज अहमद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस कदम का स्वागत किया है।

जिसके माध्यम से उन्होंने देश के विकास की धारा के साथ अल्पसंख्यक समाज का विश्वास जोड़ने का प्रयास किया है। और इसी प्रयास के तहत उन्होंने विभिन्न जगहो पर के ईफतार पार्टी में शरीक होकर अल्पसंख्यक समाज के विश्वास जोड़ने का काम किया यह सराहनीय कदम है। जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय संरक्षक पप्पू यादव के सेवा भाव और नीतीश कुमार के विश्वास भाव को जोड़कर बिहार में एक नई राजनीतिक दिशा तय की जा सकती है ।

Related posts

BNMU मधेपुरा में शोध निर्देश बनाने की मांग प्रतिकुलपति से की

Mukesh

मधेपुरा: महेशवा पंचायत भवन में चल रहे RTPS कार्यलय में JACP ने दिया धरना

Mukesh

हमारे लिए गांधी की प्रासंगिकता तभी है, जब हम अपने भीतर के ‘नैतिक मनुष्य’ को जगाए रख सकें

Mukesh

Leave a Comment