Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • मेयर के खिलाफ पार्षदों ने लाया अविश्वास प्रस्ताव कभी भी छिन सकती है मेयर और डिप्टी मेयर की कुर्सी
Latest

मेयर के खिलाफ पार्षदों ने लाया अविश्वास प्रस्ताव कभी भी छिन सकती है मेयर और डिप्टी मेयर की कुर्सी

दिनांक 11/06/19 श्रीमती रूबी कुमारी वार्ड पार्षद वार्ड नंबर 16 की अध्यक्षता में कुल 34 वार्ड पार्षदों द्वारा संयुक्त रूप से हस्ताक्षरित नगर निगम के महापौर श्रीमती प्रियम एवं श्रीमती मालती देवी, उप महापौर के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव से संबंधित अभ्यावेदन महापौर को संबोधित करते हुए निगम कार्यालय में हस्तगत कराया गया। इस अवसर पर माननीय सदस्यों के साथ साथ माननीय श्रीमती रूबी कुमारी द्वारा बताया गया कि नगर निगम के महापौर के दिन प्रतिदिन किए जाने वाले अवैध कार्यों एवं मनमानी पुणे कार से शुद्ध होकर माननीय सदस्यों द्वारा एकजुटता दिखाते हुए वर्तमान महापौर के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर हस्ताक्षर बनाया गया है तथा आज दिनांक 11/06/2019 को महापौर को प्रस्तुत करने हेतु उनके कार्यालय में हस्त गत कराया गया है।

अविश्वास प्रस्ताव की मुख्य बिंदु निम्नवत थी:- नगर निगम की मासिक बैठक नियमानुसार नहीं बुलाना, नगर विकास एवं आवास विभाग से योजनाओं के कार्यान्वयन हेतु प्राप्त अधिकांश राशि को मनमाने ढंग से अपने वार्ड में अथवा कुछ चुनिंदा वार्ड में ही व्यय किया जाना, निजी स्वार्थ की पूर्ति पर व्यय किया जाना। अपने पद का दुरुपयोग करते हुए निगम बोर्ड की बैठक की कार्यवाही पुस्तिका में बराबर छेड़छाड़ करना। निगम बोर्ड की बैठक में पार्षदों के प्रति अमर्यादित व्यवहार, जनहित का कार्य प्रभावित करना सहित अपने पद का दुरुपयोग करने संबंधी भिन्न-भिन्न आरोप लगाए गए हैं।

इस अवसर पर रूबी कुमारी के साथ-साथ श्रीमती जानकी देवी, श्री अनिल कुमार श्रीमती प्रियंका देवी श्रीमती जमुना देवी श्री सोनू कुमार श्रीमती देवंती देवी श्रीमती सुनीता देवी श्रीमती कविता कुमारी श्रीमती रीना देवी श्री पारस सिंह श्री अवध शरण शर्मा श्री सुग्रीव शर्मा श्रीमती अनीता देवी श्रीमती रेनू देवी श्रीमती सुमन देवी श्रीमती अनीता सिंह श्रीमती प्रिया सिन्हा श्रीमती पुष्पा सिंह श्री हिमांशु कुमार सिन्हा श्रीमती रीता देवी श्रीमती सलमा बेगम श्रीमती हेना केसर सहित बहुसंख्यक पार्षद उपस्थित थे।

Related posts

पटना हाइकोर्ट की निगरानी में पटना जल प्रलय के कारणों की हो जांच : पप्‍पू यादव

Mukesh

शिक्षक के असामयिक मृत्यु से शिक्षक समाज में शोक की लहर

Pankaj kumar

एसकेएमसीएच में 100 बेडों का पीआइसीयू व रिसर्च सेंटर खुलेगा:-डॉ हर्षवर्धन

Pankaj kumar

Leave a Comment