Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • पटना में 15 से 20 हजार में हत्या कर दे रहे सुपारी किलर
Latest Uncategorized क्राइम

पटना में 15 से 20 हजार में हत्या कर दे रहे सुपारी किलर

पटना के बड़े अपराधियों ने कांट्रैक्ट किलरों का सहारा लेना शुरू कर दिया है। आपसी रंजिश में दूसरों को मौत के घाट उतारने और बदला लेने की नीयत से भी कुछ असामाजिक तत्व इनका सहारा ले रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि ऐसे अपराधी मामूली रकम लेकर हत्या कर दे रहे हैं। पिछले दिनों हुईं दो हत्याओं में अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद पता चला कि हर कांट्रैक्ट किलर को 15-20 हजार रुपए मिले थे। हाल में पटना में हुई कई खूनी वारदात में ठेके पर हत्या करने वाले खतरनाक अपराधियों के हाथ होने की बात सामने आयी है। पुलिस उनकी तलाश में है। लेकिन कांट्रैक्ट किलर हमेशा जांच टीम को चकमा देने में सफल हो जाते हैं। वारदात को अंजाम देकर वे बिहार के बाहर भाग जाते हैं। पिछले पांच साल में पटना में पनपे कांट्रैक्ट किलरों की उम्र काफी कम है।

कई बार नये कपड़ों और अपने निजी शौक पूरा करने के लिये ये आपराधिक घटनाओं को अंजाम देते हैं। कई ऐसे भी अपराधी हैं जिनका पूर्व में कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं था। लिहाजा उन्हें पकड़ना पुलिस के लिये भी मुश्किल साबित होता है। कांट्रैक्ट किलर वारदात के वक्त पुलिस से बचने की पूरी कोशिश करते हैं। कई घटनाओं में यह बात आयी है कि अपराधी जान-बूझकर मुंह पर नकाब बांधते हैं, ताकि उनकी पहचान न हो सके। सुपारी किलर प्रोफेशनल तरीके से हत्या की घटना को अंजाम देते हैं। ज्यादातर घटनाओं में सिर में गोली मारी जाती है। ताकि सामने वाला बच न सके। जानकार बताते हैं कि किलरों की पहचान उनके इस क्राइम ट्रेंड से भी की जाती है कि वे अपने दुश्मन को सिर में ही गोली मारते हैं। भागलपुर के डीआईजी विकास वैभव ने कहा कि ऐसे कांट्रैक्ट किलरों को पकड़ना बेहद जरूरी है। नागा हत्याकांड में भी कम उम्र के सुपारी किलरों ने घटना को अंजाम दिया था।

केस 1
सात जुलाई, 2015 को कदमकुआं थाने के दलदली रोड में बीजेपी नेता नागा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इसमें पुलिस ने अंजुम इकबाल, अलाउद्दीन इकबाल और राजा को पकड़ा था। हर अपराधी को 10-15 हजार रुपए दिये गये थे।

केस 2
पटना सिटी के चौक थाना इलाके में 12 अप्रैल 2019 की शाम दालमोट व्यवसायी एवं जदयू नेता शंकर पटेल की हत्या कर दी गई थी। घटना के बाद जब पुलिस ने चार अपराधियों को पकड़ा तो पता चला कि बेउर जेल से कांट्रैक्ट देकर शंकर को मौत के घाट उतरवाया गया। एक किलर को 15-20 हजार रुपए दिये गये थे।

केस 3
गर्दनीबाग थाना क्षेत्र में 2018 में पटना नगर निगम की पूर्व उप महापौर के पति दीना गोप की हत्या कर दी गयी थी। इस हाईप्रोफाइल मामले में भी सुपारी किलरों का हाथ था।

Related posts

खाली समय था इसलिए निमंत्रण देने आया हूँ : शरद यादव

Mukesh

सहरसा : शराब माफिया निकला उत्पाद निरीक्षक , पुलिस ने किया गिरफ्तार

Mukesh

पप्पू यादव के नेतृत्व में शहीद वीर सैनिकों तथा सुशांत सिंह राजपूत की याद में पटना में कैंडल मार्च निकाला गया -जाप

Pankaj kumar

Leave a Comment