Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • बिहार
  • सोन पुल की बनी एप्रोच रोड हल्की बारिश में टूटने लगी
औरंगाबाद बिहार

सोन पुल की बनी एप्रोच रोड हल्की बारिश में टूटने लगी

सोन पुल की बनी एप्रोच रोड हल्की बारनासरीगंज दाउदनगर-नासरीगंज सोन नदी पर बने  पुल तक जाने वाली एप्रोच रोड छह माह पूर्व में ही हल्की बारिश में टूटने लगी हैं। प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत में यादव टोला व बरडिहा के बीच मे बने छोटे पुल के समीप सड़क का कटाव हो चुका है। जो राहगीरों के लिए खतरा बन चुका है। जिसके चलते दुर्घटना की आशंका बढ़ गई है। एप्रोच रोड के निर्माण में काफी अनियमितता बरती गई है। जो साफ तौर पर देखा जा सकता है। इस रोड के उद्घाटन कार्यक्रम के पूर्व स्वंय डीएम पंकज दीक्षित ने जायजा लिया। था। लेकिन विभागीय निर्माण कार्य एजेंसी के द्वारा जल्दबाजी में इस कार्य को कर राज्य सरकार को सौंप दिया गया। राज्य सरकार द्वारा बनाया गया दो अलग-अलग जिले को जोड़ने के लिए बनाया गया पुल का एप्रोच रोड हल्की बारिश में टूटने लगी।

एप्रोच रोड के किनारे-किनारे सर्फ मिट्टी की भराई कर छोड़ दिया गया था। जो बारिश के पानी से बहकर नीचे गिर रहा है। जिसके वजह से सड़क किनारे का हिस्सा भी बारिश के पानी मे कट रहा है। स्थानीय भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष का कहना है कि मिट्टी का भराव करके सड़क का निर्माण तो कर दिया गया, लेकिन दोनों किनारों की मिट्टी की सुरक्षा का उपाय नहीं किया गया। जिसके चलते सड़क ध्वस्त होने लगी है। वहीं भाजयुमो नगर अध्यक्ष सुमित कुमार शर्मा का आरोप है कि सड़क बनाते समय मानकों और प्राक्कलन के निर्देशों का पालन नहीं किया गया। वहीं पूर्व जिला पार्षद ने आरोप‌ लगाया है कि मई में संपन्न हुए चुनाव से पहले निर्माता कंपनी ने जैसे-तैसे जल्दबाजी में सड़क का निर्माण करा दिया। लेकिन इस रोड में अभी काफी कमियां देखने को मिल रही है। इस पुल के एप्रोच रोड की मरम्मत जल्द नही कराई गई तो टूटने में ज्यादा समय नही लगेगा। जब हल्की बरसात के दिनों में यह हाल है तो आगे क्या होगा। इधर पुल व सड़क निर्माता कंपनी एचसीसी के प्रोजेक्ट मैनेजर अशोक उपाध्याय ने कहा है कि सड़क के किनारों पर इंबैंकमेंट प्रोटेक्शन के लिए पत्थर लगाने का कार्य अधूरा है। जिसके चलते किनारे ध्वस्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक महीने के भीतर तीन फुट से ज्यादा उंचे मिट्टी भराव की सुरक्षा के लिए पत्थर लगाने और तीन फुट या इससे कम उंचाई वाली जगह पर घास लगाई जाएगी। साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि एक-दो दिनों में ही ध्वस्त हुई सड़क की मरम्मत करा दी जाएगी। गौरतलब है कि अरबों रूपये की लागत से औरंगाबाद और रोहतास समेत दो जिलों‌ की संस्कृति ‌को‌ जोड़ने वाले उक्त पुल का उद्घाटन जारी‌ वर्ष में गत सोलह फरवरी को‌ हुआ था। पुल के दोनों ओर लगभग आठ किलोमीटर ‌लंबी एप्रोच रोड का निर्माण कराया गया। जिसके तहत नासरीगंज-बाईपास से पुल‌ तक लगभग पांच किलोमीटर लंबी रोड पर जगह-जगह सर्विस रोड के निकट 32 छोटे-छोटे पुलिया का निर्माण कराया गया है।

लेकिन मौसम की पहली बारिश ‌में ही उक्त रोड विशेष रूप से पुलिया के निकट मिट्टी कटाव से ढहने लगी है। जिसके चलते दुपहिया वाहन दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। बताते चलें कि परियोजना का शुभारंभ गत 4 मॉर्च 2014 को किया गया था। इस पुल व एप्रोच रोड के निर्माण मे परियोजना की पूरी लागत 1006.56 करोड़ रुपये है। एचसीसी कंपनी के द्वारा 2900 मीटर लम्बा व फोर लेन पुल का निर्माण हुआ। दोनो तरफ की पहुंच पथ की लंबाई 7.65 किलोमीटर व छोटे पुल की संख्या 32 है। गत वर्ष 2014 में उक्त पुल का निर्माण शुरू होते ही‌ निर्माता कंपनी धीमी रफ्तार ‌से निर्माण कार्य कराती‌ रही‌ है और अभी भी कई सर्विस ‌रोड का निर्माण कार्य शेष है।

Related posts

मधेपुरा: AISU ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जयंती मनाई

Mukesh

डीएनए जात का हिस्सा नहीं है तो जांच के लिए कोई बोला :-पप्पू यादव

admin

जिशु सिंह ने भाजपा का छोडा दामन,

Pankaj kumar

Leave a Comment