Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • बिहार
  • जिलाधिकारी ने नियाम पंचायत बाढ़ पीड़ितों के बीच जाकर रिलीफ वितरण कार्य का जायजा लिया
दरभंगा बिहार

जिलाधिकारी ने नियाम पंचायत बाढ़ पीड़ितों के बीच जाकर रिलीफ वितरण कार्य का जायजा लिया

जिलाधिकारी दरभंगा त्यागराजन एस. एम. ने आज जिला के पूर्ण बाढ़ प्रभावित हनुमाननगर प्रखंड के नेयाम पंचायत का दौरा किया। यह पंचायत चारों तरफ से बाढ़ के पानी से घिरा हुआ है। बाढ़ के चलते इस पंचायत का मुख्य सड़क से संपर्क ध्वस्त हो गया है। इसलिए वे एन.डी.आर.एफ. के नाव से उक्त पंचायत में पहुँचे। इस अवसर पर सहायक समाहर्त्ता (प्रशिक्षु) विनोद दूहन, अनुमण्डल पदाधिकारी सदर, दरभंगा राकेश कुमार गुप्ता, अंचल अधिकारी/प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, हनुमाननगर उनके साथ थे। उन्होंने उक्त पंचायत के बाढ़ पीड़ित लोगों के साथ बैठक करके जिला प्रशासन द्वारा उनलोगों के बीच चलाये गये राहत एवं बचाव कार्य, सामुदायिक रसोई के माध्यम से खाना, मेडिकल टीम के द्वारा बीमार लोगों की चिकित्सा, पशुओं के लिए चारा आदि की व्यवस्था के बारे में बाढ़ पीड़ितों के ही जुबानी जानकारी लिया।

बाढ़ पीड़ित लोगों ने सामुदायिक रसोई के माध्यम से भोजन मिलने के प्रति संतोष व्यक्त किया। उनलोगों जिलाधिकारी से ये सभी कार्य आगे भी जारी रखने का माँग किया। जिलाधिकारी द्वारा आश्वस्त किया गया कि बाढ़ प्रभावित लोगों को आपदा विभाग के मानक संचालन प्रक्रिया (एस.ओ.पी.) के तहत हर संभव सहायता उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि जबतक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती है सामुदायिक रसोई के माध्यम से खाना मिलता रहेगा। मोबाईल मेडिकल टीम के द्वारा बीमार लोगों की चिकित्सा की जायेगी। आश्रय विहीन लोगों को पोलीथीन शीट्स उपलब्ध करायी जायेगी। वहीं बाढ़ में घिरे मवेशियों के लिए चारा भी उपलब्ध करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी, वरीय प्रखण्ड प्रभारी पदाधिकारी एवं अनुमण्डल पदाधिकारी को बाढ़ प्रभावित लोगों का तीव्र गति से फील्ड सर्वेक्षण कराने का निदेश दिया। उन्होंने बाढ़ पीड़ित परिवारों का डाटा बेस संपूर्ति पोर्टल पर पी.एफ.एम.एस. सिस्टम से भुगतान हेतु अपलोड करने का निदेश दिया ताकि बाढ़ से प्रभावित सभी परिवारों को 06-06 हजार रूपये नगद सहायता राशि का भुगतान की कार्रवाई शीघ्र पूरी किया जा सके।

जिलाधिकारी ने साथ चल रहे अन्य अधिकारियों के साथ बाढ़ पीड़ित लोगों के लिये संचालित सामुदायिक रसोई का निरीक्षण किया। उन्होंने उक्त पंचायत में सामुदायिक रसोई संचालन जारी रखने का निदेश दिया। उन्होंने बाढ़ पीड़ित लोगों के बीच और पोलीथीन शीट्स वितरण कराने को कहा। जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को उक्त पंचायत में मोबाईल मेडिकल कैंप लगाकर बीमार लोगों की चिकित्सा करने एवं कार्यपालक अभियंता पी.एच.ई.डी. को पीने का शुद्ध पानी हेतु जेरीकैन फिल्टर उपलब्ध कराने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने जिला पशुपालन पदाधिकारी को कहा कि चारो ओर से बाढ़ से घिरे गाँवों में रह रहे मवेशियों के लिए भी चारा एवं दवाई की व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि बाढ़ राहत वितरण कार्य में तनिक भी शिथिलता अथवा लापरवाही पाये जाने पर कठोर कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0

Related posts

गुरु पूर्णिमा पर जगरन्नाथ मंदिर से निकली पालकी यात्रा

Pankaj kumar

जनकपुर के निकट सफारी टेम्पू की टक्कर में 1 की मौत 4 घायल

Mukesh

तीन लोकसभा सीटें नीतीश के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गयी हैं,

Mukesh

Leave a Comment

0Shares
0