Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • BNMU में आंदोलन कर रहे छात्रों को नीरज बबलू के गुंडा कहने पर छात्र नेताओं ने कहा माफी मांगे विधायक नही तो होगी आर पार की लड़ाई: छात्र नेता जाप
Latest बिहार मधेपुरा राज्य होम

BNMU में आंदोलन कर रहे छात्रों को नीरज बबलू के गुंडा कहने पर छात्र नेताओं ने कहा माफी मांगे विधायक नही तो होगी आर पार की लड़ाई: छात्र नेता जाप

मधेपुरा : मुकेश कुमार –
22 फरवरी को BNMU मधेपुरा में सीनेट की बैठक में BJP के विधायक नीरज कुमार सिंह बबलू ने बैठक का विरोध कर रहे छात्रों को गुंडा बताया था । उसी को लेकर जन अधिकार छात्र परिषद के यूनिवर्सिटी अध्यक्ष अमन कुमार रितेश और जिला अध्यक्ष रौशन कुमार बिट्टु ने प्रेस विज्ञप्ति जारी किया।अमन कुमार रितेश ने कहा की विधायक नीरज कुमार बबलू आंदोलन कर रहे छात्र संगठन को गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया गया जो सही नही है । माननीय विधायक जिस पार्टी के नेता है उसी पार्टी के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सबसे पहले यूनिवर्सिटी का गेट बंद कर आंदोलन करने का क्रेडिट लेना शुरू कर दिए थे।जबकि गेट बंद रहने के कारण अन्य छात्र संगठन मुख्य द्वार पर ही लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन कर रहे थे । विधायक जी जो बोल रहे थे कुलपति के ढिलाई से छात्र नेता ऐसा करते है उनको बता देना चाहते हैं कि कुलपति महोदय शिक्षा के क्षेत्र से है आपके ही तरह नहीं है और सबको पता है आप का इतिहास किस तरह आप राजनीतिक में आए। लेकिन विधायक भूल गए कि वो भी एक जनप्रतिनिधि है । यदि नीरज कुमार बबलू छात्र नेता से माफी नही मांगते है तो इस बयान को लेकर इनके खिलाफ छात्र जाप राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करेंगे । वही जनअधिकार छात्र परिषद के जिलाध्यक्ष रोशन कुमार बिट्टू ने कहा कि बीएनएमयू में पढ़ने वाले छात्र अधिकाशतः गरीब दलित और पिछड़े वर्ग से आते हैं।इसलिए मनुवादी सोच रखने वाले लोग साजिश के तहत 2012 के छात्रों के आधार पर ही रेशनलाइजेशन लागू कर दिया।जिससे राज्य सरकार और सत्ताधारी दल के मूकदर्शक विधायक जो दुर्भाग्यवश बीएनएमयू के सीनेट सदस्य भी है।जो बीएनएमयू में हो रही शिक्षकों की कमी पर सदन पर एक शब्द भी नही बोल पाए।जब जन अधिकार छात्र परिषद ने बीएनएमयू में शिक्षकों की कटौती पर सीनेट का विरोध कर रहे थे।तो कुछ वो सीनेट सदस्य जो बीएनएमयू की दलाली को अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझते हैं, उसे लगा कि हमारी निक्कामापन की पोल खुल गयी।इसलिए अनाप-शनाप बयान देकर निकल गए।
वही दूसरी और एक प्रधानाचार्य सह सदस्य रेणु सिंह ने छात्र संगठन के नेता को बच्चा कहा क्या ऐसे शिक्षक को पता है लोकतंत्र क्या है ? हकीकत यह है कि ऐसे शिक्षक के व्यवहार से ही छात्र कॉलेज नही आते है किसी समस्या को लेकर जब कोई छात्रा इनके पास जाती है तो यह उन्हें डराते है पहले पढ़ाना और अपना कर्तव्य करना चाहिए । छात्र संगठन का जो कर्तव्य था हमलोग कर रहे थे । ये वही नीरज कुमार बबलू है जिस पर हत्या , बैंक लूट, डकैती, दंगा भड़काने, जबरन वसूली के लिए धमकाने जैसे कई मामलों में आरोपी रह चुके हैं। राज्य के हाईवे प्रोजेक्ट को डील करने वाली कंपनी Gammon-India Ltd. ने इस मामले में जनवरी 2008 में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी।
वही जनअधिकार छात्र परिषद के नेताओ ने कहा कि अगर दोनों छात्रों से माफी नही मांगी तो हम सब बबलू सिंह के खिलाफ आंदोलन करेंगे और उनके आपराधिक इतिहास का उजागर करेंगे ।

Related posts

मधेपुरा : गणतंत्र दिवस के अवसर पर युवाओं ने देश के नाम क्या रक्तदान

Mukesh

धारा 370 के हटाने पर भाकपा माले द्वारा भारत सरकार का विरोध प्रदर्शन

Binay Kumar

पत्नी ने पति की हत्या कर घर मे ही गाड़ दिया

Binay Kumar

Leave a Comment