Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • Latest
  • सुशासन की महत्वकांक्षी योजनाओं का कब्रिस्तान बन गया है एक गांव : शम्भू शरण भारतीय
Latest बिहार मधेपुरा राज्य होम

सुशासन की महत्वकांक्षी योजनाओं का कब्रिस्तान बन गया है एक गांव : शम्भू शरण भारतीय

मुकेश कुमार/ मधेपुरा
भारतीय औषधीय कृषक शंभुशरण भारतीय ने कहा कि
सुशासन की महत्वकांक्षी योजनाओं का कब्रिस्तान बन गया है एक गांव ।

केकरा से कड़ी अरजिया हो सकड़े बटमार ।
दहशत में जी रहे अराजकता के शिकार ग्रामीणों की अभी यही मनोदशा है । सदर प्रखंड का एक 5 हजार की आबादी वाला गांव 20 से 25 लोगों की असामाजिक हरकतों के चलते न सिर्फ तनावपूर्ण माहौल में जीने को अभिशप्त है । यह गांव है राजपुर ,मॉब लिंचिंग के जरिए यहां सारे सामाजिक कार्य संपन्न होते हैं ।ताजा घटनाक्रम की सचित्र रिपोर्ट वीडियो सहित सभी संचार माध्यम के जरिए शासन प्रशासन और सरकार तक किसान संसद , मधेपुरा पहुंचाना चाहता है ताकि सनद रहे।
15 अगस्त आजादी का दिन है और मौजूदा हालात में आजादी की मौजूदा दशा दिशा पर चिंतन मनन करने का भी दिन है ।जो आजादी का अर्थ समझते हैं जो आजादी का महत्व समझते हैं वह आजादी का सदुपयोग करते हैं । जो आजादी का अर्थ उद्दंडता समझते हैं वह आजादी का दुरुपयोग करते हैं । यही दुरुपयोग सदर प्रखंड के राजपुर गांव में हो रहा है । गांव में दहशत है और अराजकता की स्थिति बनी हुई है । बिहार सरकार की अति महत्वपूर्ण योजना है जल जीवन हरियाली, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क संपर्क योजना, पृथ्वी दिवस पर करोड़ों पेड़ पौधे लगाने की योजना, शराबबंदी योजना, । जल जीवन हरियाली के तहत निर्णय लिया गया था पोखर, कुआं, सार्वजनिक तालाब, अतिक्रमण मुक्त करने का। अतिक्रमण मुक्त तो लाख कहने के बाद भी प्रशासन नहीं करवा सका । आजादी के दिन जो पोखर का बचा हुआ उत्तर का महार था उसकी मिट्टी भी कटवा कर उसके स्वरूप को ही बिगाड़ दिया गया । जल जीवन हरियाली जैसे सुशासन की इस अति महत्वाकांक्षी योजना का जो मजाक इस गांव में बनाया जा रहा है वह देखने योग्य है । कोई भी आदमी आकर देख सकते हैं -सांच को आंच क्या । जबकि सच यह है कि यह लोक देवता खेदन महाराज का पोखर है जो ग्रामीण है सार्वजनिक पोखर है । इस पोखर से हर साल 2 -3 लाख की मछली निकाली जाती है । हालांकि यह सार्वजनिक पोखर ग्रामीण पशुओं को नहाने , पानी पीने के उद्देश्य से 100 वर्ष पूर्व में बनाया गया था। 5000 की आबादी वाले इस गांव में 20 – 25 लोगों के हाथों यह पोखर आज बंधक बना हुआ है । पूर्णत: न सिर्फ अतिक्रमित है बल्कि उसके मूल स्वरूप को ही नष्ट कर दिया गया है। और दबंगई कायम रखने के लिए पोखर की मछली का लाखों रुपया शासन प्रशासन को मैनेज करने में लगा देता है । ताकि अंधेरा कायम रहे।गांव में कोई भी कार्य मॉब लिंचिंग के द्वारा संपन्न किया जाता है।चाहे वह सड़क बनाने के नाम पर खेत में लगी फसलों को बर्बाद करने का मामला हो, सार्वजनिक पोखर के अतिक्रमण का मामला हो , पृथ्वी दिवस के दिन हजारों पेड़ पौधे को काटकर फेंक देने का मामला हो या शराबबंदी का सवाल हो ।भीड़ को साथ लेकर चलने में शराब की भूमिका कुछ अधिक हो जाती है और शराब का अवैध कारोबारी होने के कारण उसका उपलब्ध होना भी आसान हो जाता है। शराबबंदी अभियान की इस विफलता पर सोचना चाहिए।
एक और योजना है बिहार के सुशासन सरकार की – मुख्यमंत्री ग्राम सड़क संपर्क योजना । इस योजना को भी यहां चूना लगाया जा रहा है।इस गांव में सामाजिक समरसता बिगाड़ने वाले कुछ लोगों के द्वारा 100 वर्ष पुरानी सड़क जो ग्रामीण अब आवागमन का मुख्य रास्ता था – को दीवार से घेराबंदी कर 100 बरस पुरानी निजी जमीन की में बने घर को सड़क बता कर जबरन तुड़वा दिया – जिसका केस न्यायालय में चल रहा है।इतना ही नहीं दबंगई फंड से मॉब लिंचिंग के द्वारा निजी रैयती जमीन में मिट्टी करण का कार्य कर दिया। निजी जमीन में घेराबंदी के दौरान जो जानलेवा हमला हुआ वह केस भी न्यायालय में चल रहा है । दीवार से पुरानी सड़क की घेराबंदी करनी हो या और कोई कार्य हो । तथाकथित कमेटी का जो अकाउंट है उसका मालिक भी यही लोग हैं ।मालिक चेक काटने वाला । एक बेटा सप्लायर ।एक बेटा ठेकेदार।” बाप -बेटा पंच – बड़द के दाम नौ आना”। यह सारे उक्त कार्य कानून अवैध है -अपराध है पूर्णत: गैरकानूनी है। क्योंकि मामला न्यायालय में चल रहा है। और न्याय अभी जिंदा है। अंततः इन अति महत्वकांक्षी सुशासन की योजनाओं का बंटाधार होना तय है।
किसान संसद मधेपुरा मौजूदा हालात में दहशतजदा एहसास के साथ एक शेर के हवाले से इस बार इतना ही – शेष आगे जल्दी ही ।
“तुम्हारे हाथ में सरकार है हम इसलिए चुप हैं,हमारे साथ में घर बार है हम इसलिए चुप हैं ।
जिसे चाहो बना डालो , जिसे चाहो मिटा डालो- तुम्हारा यही कारोबार है ,हम इसलिए चुप हैं ।

Related posts

पतरघट प्रखण्ड कार्यालय में चुनाव की तैयारियों को लेकर प्रखण्ड विकास पदाधिकारी ने किया बैठक

Mukesh

पप्पू यादव कल जाएंगे जहानाबाद वहा कड़ेंगे शांति मार्च

Mukesh

जनअधिकार पार्टी (लो०) के कार्यकर्ताओं ने 3 स्थापना दिवस मनाया

Mukesh

Leave a Comment