Bihar ki awaaz, Latest Bihar political News, Bihar crime news in hindi – बिहार की आवाज़
  • Home
  • बिहार
  • श्री कमलेश्वरी प्रसाद यादव के वजह से ही सुदूर क्षेत्र में बना महाविद्यालय : डॉ० आभा सिंह
Latest एजुकेशन बिहार मधेपुरा राज्य होम

श्री कमलेश्वरी प्रसाद यादव के वजह से ही सुदूर क्षेत्र में बना महाविद्यालय : डॉ० आभा सिंह

मधेपुरा/ मुरलीगंज :

संविधान सभा के सम्मानित सदस्य श्री कमलेश्वरी प्रसाद यादव के जन्मदिवस पर आयोजित समारोह में शामिल होने का अवसर मिला।

याद किए गए कमलेश्वरी प्रसाद यादव

कमलेश्वरी प्रसाद एक समर्पित राजनेता एवं महान शिक्षाविद् थे। उन्होंने काफी कठिनाइयाँ झेलकर इस सुदूर क्षेत्र में महाविद्यालय की स्थापना की और यहाँ शिक्षा की ज्योति जलाई।

यह बात प्रति कुलपति प्रोफेसर डाॅ. आभा सिंह ने कही। वे कमलेश्वरी प्रसाद यादव की जयंती पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि शिक्षा मनुष्य को मिला हुआ एक ईश्वरीय वरदान है। यह हमारे लिए बहुमूल्य निधि है।

उन्होंने कहा कि वैसे जनसंख्या के हिसाब से महाविद्यालय कम लगते हैं। आज महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय की संख्या बढ़ी है। आज शिक्षा का प्रसार हुआ है। लेकिन गुणवत्ता में ह्रास हुआ है। पहले कक्षा में विद्यार्थी भरे रहते थे, लेकिन आज विद्यार्थी नदारद हैं।

उन्होंने कहा कि हर पीढ़ी की अपनी-अपनी चुनौती होती है। आज जनसंख्या में बेतहासा वृद्धि हुई है। लेकिन संसाधनों का अभाव हो गया है।

उन्होंने कहा कि आज भ्रम हो गया है कि हम किताब से पढ़ाई कर सकते हैं। लेकिन किताबों में महज जानकारी होती है। शिक्षक उसे ज्ञान बनाता है।

उन्होंने कहा कि यह महाविद्यालय सौभाग्यशाली है कि यहाँ इतना बड़ा कैम्पस है। यहाँ प्राकृतिक संसाधन है। महाविद्यालय के विकास का समग्र प्रस्ताव आने पर विश्वविद्यालय से भी आर्थिक मदद मिलेगी। उन्होंने विद्यार्थियों से अपील की कि वे नियमित रूप से कक्षा मेंष आएँ। यदि कोई वर्ग नहीं हो, तो विश्वविद्यालय को सूचना दें। विद्यार्जन एवं अन्य शैक्षणिक गतिविधियों में भाग लें।

मुख्य वार्ड पार्षद श्वेत कमल उर्फ बौआजी ने महाविद्यालय के विकास में हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रधानाचार्य डाॅ० जवाहर पासवान ने महाविद्यालय के विकास में सभी शिक्षकों,कर्मचारियों, विद्यार्थियों एवं अभिभावकों से सहयोग की अपील की।

इस अवसर पर पूर्व कुलपति डाॅ० अनंत कुमार,पूर्व प्रति कुलपति डाॅ० राजीव कुमार मल्लिक,पूर्व प्रधानाचार्य डाॅ० राजीव रंजन, अधिषद् सदस्य अभय कुमार यादव,पीआरओ डाॅ० सुधांशु शेखर, क्रीड़ा उप सचिव डाॅ० शंकर कुमार मिश्र, डाॅ० नागेंद्र प्रसाद यादव,डाॅ० शब्बीर अहमद,
डाॅ० गुलाम मुस्तफा वारसी,डाॅ० आनंद कुमार,ब्रह्मानंद जायसवाल, डाॅ० अमरेंद्र कुमार, डाॅ० बरदराज, डॉ० प्रतीक कुमार,डॉ० सज्जाद अख्तर,डॉ० चंद्रशेखर आजाद,डॉ० त्रिदेव निराला,डॉ० पंकज कुमार,डॉ० मंडल ,डॉ० सुशांत सिंह, डॉ० अली अहमद मंसूरी, डॉ० प्रीति कुमारी,डॉ० दीपा कुमारी ,डॉ० रितु रत्नम,डॉ० सिकंदर कुमार,डॉ० राजीव जोशी,डॉ० नजराना,डॉ० किरण कुमारी,डॉ० अरुण कुमार,डॉ० राघवेंद्र आदि उपस्थित थे।

इसके पूर्व कार्यक्रम की शुरूआत कमलेश्वरी प्रसाद की प्रतिमा एवं समाधी स्थल पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि के साथ हुई।कमलेश्वरी बाबू के परिजनों सहित सभी अतिथियों का अंगवस्त्रम एवं पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया।

संचालन पृथ्वीराज यदुवंशी एवं प्रतीक कुमार ने किया। सनोज कुमार, रेखा यादव, रौशन कुमार, रविराज, बीरेन्द्र, मधुबाला भारती, सोनी कुमारी आदि ने गीत-संगीत प्रस्तुत किया।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0

Related posts

कार्यपालक सहायक परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर आक्रोश मार्च निकाला

Mukesh

बक्सर पहुँचे प्रधानमंत्री

Binay Kumar

भोज खिलाने को लेकर युवक को गोली मारकर हत्या

Binay Kumar

Leave a Comment

0Shares
0